Breaking News
Home / ज़रा हटके / 58 कमांडो, इजराइल से ट्रेंड 20 प्राइवेट गार्ड्स की सुरक्षा में रहते हैं मुकेश अंबानी; जानें Z+ सिक्योरिटी के खास इंतजाम

58 कमांडो, इजराइल से ट्रेंड 20 प्राइवेट गार्ड्स की सुरक्षा में रहते हैं मुकेश अंबानी; जानें Z+ सिक्योरिटी के खास इंतजाम

दोस्तो जैसा कि सभी को मालूम है भारत के जाने माने बिजनेसमैन मुकेश अंबानी और उनका परिवार अक्सर सुर्खियो में रहता है ।इन दिनों दिनो भी मुकेश अंबानी को लेकर बड़ी खबर आ रही है ।दरअसल मुकेश अंबानी के लिए रिलायंस फाउंडेशन के हरकिशनदास अस्पताल के एक नंबर पर धमकियों भरे तीन काल आए । ऐसी धमकी भरे कॉल आने के बाद तुरंत डीबी मार्ग पुलिस को सूचित किया गया जिसके बाद पुलिस इस मामले की जांच करने लगी और सब मामले को ध्यान में रखते हुए मुकेश अंबानी की सुरक्षा बढ़ा दी गई।मुकेश अंबानी की सुरक्षा के लिए कितने गार्डस है और जिस प्लस सिक्योरिटी पर लगभग कितना खर्च आता है इन सभी सवालों के जवाब जानने के लिए लेख को अंत तक जरूर पढ़े।

मुकेश अंबानी की Z+ सिक्योरिटी

देश के टॉप बिजनेसमैन मुकेश अंबानी की Z+ सिक्योरिटी मिली हुआ है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक करीब 55 कमांडो उनके और उनकी फैमिली की सिक्योरिटी में हर पल मुस्तैद रहते हैं। इतना ही उनकी सुरक्षा में तैनात गार्ड्स जर्मन मेड हेकलर एंड कोच MP5 सब-मशीन गन सहित कई मॉडर्न वेपन से लैस रहते हैं, जिससे एक मिनट में 800 राउंड फायरिंग की जा सकती हैं।

10 NSG लेवल के कमांडो भी शामिल

दरअसल, जाने-माने उद्योगपति मुकेश अंबानी उन लोगों में शुमार हैं, जिन्हें सरकार की ओर से जेड प्लस सिक्योरिटी मुहैया कराई गई है। इस सिक्योरिटी में 10 नेशनल सिक्योरिटी गार्ड लेवल के कमांडो होते हैं। 25 सीआरपीएफ के कमांडो टीम में शामिल होते हैं। इसके अलावा गार्ड्स, ड्राइवर, पर्सनल सिक्योरिटी ऑफिसर जैसे स्टाफ के साथ तलाशी लेने वाली टीम शामिल है। ये कमांडो दो शिफ्ट में काम करते हैं।

इजराइल से ट्रेंड 20 प्राइवेट गार्ड्स भी तैनात

वहीं Z प्लास सिक्योरिटी के अलावा मुकेश अंबानी ने अपनी पर्सनल सिक्योरिटी भी हायर की हुई है, जिसमें उनके साथ 20 निजी सुरक्षाकर्मी होते हैं, जो बिना हथियारों के ट्रेंड गार्ड्स होते हैं। यह सुरक्षा गार्ड्स इजराइल स्थित सिक्योरिटी-फर्म ने ट्रेनिंग हासिल किए हुए हैं। इस टीम में सेना के रिटायर्ड और NSG के जवान भी शामिल हैं।

जानिए कितना होता है खर्चा

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक Z+ सुरक्षा का मुकेश अंबानी खुद उठाते हैं, जिसका हर महीने 15 से 20 लाख रुपए का खर्च आता है। वैसे ज्यादातर मामलों में जेड प्लस सिक्योरिटी का खर्च सरकार की ओर से वहन किया जाता है, लेकिन मुकेश अंबानी इन सबके अलग हैं। वहीं कुल भुगतान करीब 35 के करीब आता है। ऐसे में अंबानी अपनी सुरक्षा के लिए करीब 35 लाख रुपए हर महीने खर्च करते हैं।

देश के पहले उद्योगपति मुकेश अंबानी

आपको बता दें कि मुकेश अंबानी Z कैटिगरी सिक्योरिटी पाने वाले देश के पहले उद्योगपति हैं। साल 2013 में उनको और उनकी फैमिली को Z कैटिगरी सुरक्षा दी गई थी। उनको आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन से धमकी मिली थी, जिसके बाद केंद्र सरकार ने जेड श्रेणी सुरक्षा देने का फैसला किया था। हालांकि बाद में उसे Z+ कर दिया गया था।

 

About Megha