किसी को बनाया मुर्गा तो किसी को भेजा जेल,खौफ इतना की कोई हुआ बेहोश तो किसी ने जान बचाने के लिए ली चरणों में शरण

  1. Home
  2. ताजा खबरें

किसी को बनाया मुर्गा तो किसी को भेजा जेल,खौफ इतना की कोई हुआ बेहोश तो किसी ने जान बचाने के लिए ली चरणों में शरण

आजम

इस नेता के सामने बड़े-बड़े अफसर भी डर के लगते थे थर्राने 


मजिस्ट्रेट को हड्काने के बाद डीएम और एसपी से उन्हें जेल भेजने को कह दिया था। इससे घबराए सिटी मजिस्ट्रेट बेहोश होकर गिर पड़े थे। बाद में अफसरों ने मुंह पर पानी छिड़का तो होश में आए थे। बिलासपुर के चिकित्सा अधीक्षक को तो जेल भिजवा दिया था।

दोस्तो राजनीति में बहुत से नेता आए और गए लेकिन उनमें से कुछ नेता ऐसे भी है जिन्हे लोग कभी भी नही भूल पाएंगे उन्ही नेताओ में से एक है आजम खान जो अपने बयानों को लेकर अक्सर सुर्खियो में रहे है वे उत्तर प्रदेश के रामपुर से 10बार विधायक रह चुके है। आजम खान समाजवादी पार्टी की सरकार में कैबिनेट मंत्री, लोकसभा और राज्यसभा के सांसद भी रह चुके है।इनमे कुछ अलग ही बात थी .

ak

 समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव आजम खां की सपा शासनकाल में गजब की हनक थी। बड़े-बड़े अफसर उनके सामने थर्राते थे। एक जिला अधिकारी को तो उन्होंने इतनी बुरी तरह हड़काया था कि वह सपा के नगर अध्यक्ष के कदमों में जाकर बैठ गए थे। आजम खां के ऐसे ही कई किस्से हैं जो उनकी सत्ता की हनक और अफसरों से दुर्व्यवहार की कहानी कहते हैं। आइए उन पर डालें एक नजरः-

सपा नेता के कदमों में बैठ गए थे डीएम

आजम  खां

सपा शासन काल में आजम खां ने रामपुर में डीएम रहे सीपी त्रिपाठी को तो इतना हड़काया था कि वह गांधी समाधि पर बोल रहे सपा नगर अध्यक्ष के कदमों में जाकर बैठ गए थे। तब रामपुर में बापू मॉल का निर्माण कराया जा रहा था। प्रशासन वाल्मीकि बस्ती के सड़क किनारे बने घरों को तोड़ना चाहता था, लेकिन बस्ती के लोग इसके विरोध में आंदोलन कर रहे थे।तब जिलाधिकारी ने इन लोगों से वार्ता कर मकान न तोड़ने का आश्वासन दे दिया था। इसी से आजम खां नाराज हो गए थे। डीएम को बुरी तरह हडका दिया था। डीएम के विरोध में ही सपा के लोग गांधी समाधि पर धरना देने पहुंच गए थे। सपा नगराध्यक्ष आसिम राजा सपाइयों को संबोधित कर रहे थे। डीएम वहां पहुंचे और सपा नगर अध्यक्ष के कदमों में बैठ गए।

सिटी मजिस्ट्रेट बेहोश होकर गिर पड़े थे

इससे पहले सिटी मजिस्ट्रेट रहे नवाब अली खां को भी बुरी तरह हड़काया था। तब गेस्ट हाउस में सामने बैठे डीएम और एसपी से उन्हें जेल भेजने को कह दिया था। इससे घबराए सिटी मजिस्ट्रेट बेहोश होकर गिर पड़े थे। बाद में अफसरों ने मुंह पर पानी छिड़का तो होश में आए थे। बिलासपुर के चिकित्सा अधीक्षक को तो जेल भिजवा दिया था। एक बार जिला अस्पताल के टेक्नीशियन को भी मुर्गा बना दिया था।