अब गाड़ी खरीदने का सपना होगा पूरा,रखना होगा कुछ ख़ास बातो का ख्याल ये लोन रहेगा फायदेमंद

  1. Home
  2. ताजा खबरें

अब गाड़ी खरीदने का सपना होगा पूरा,रखना होगा कुछ ख़ास बातो का ख्याल ये लोन रहेगा फायदेमंद

लोन

लोन ले रहे हैं तो पहले अपनी रीपेमेंट कैपेसिटी जरूर चेक करे 


कई बार ग्राहक लोन लेते समय ब्याज दरों की तुलना नहीं करते हैं. यानी कि कई बैंकों में आपको कम इंटरेस्ट पर लोन मिल रहा होता है. लेकिन ठीक तरह से रीसर्च न करने पर आप महंगा ब्याज ले लेते हैं. जिससे लोगों को कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है.

दोस्तो आज के समय में सभी चाहते है उनकी अपनी गाड़ी हो चाहे फिर वो स्कूटर ,बाइक या कार हो ।लेकिन गाड़ियों की कीमत जानकर ही कई लोग इन्हें ले नही पाते क्योंकि किसी भी आम आदमी के पास हजारों लाखों रुपए ऐसे ही नही पड़े होते ।डाउनपेमेंट देने के लिए भी कुछ लोग काफी समय से पैसा इकट्ठा कर रहे होते है ।तो कुछ लोग गाड़ी लेने के लिए लोन करवाते है गाड़ी लेने के चक्कर में लोग बहुत सी बातों पर ध्यान नहीं देते और कुछ गलतियां कर बैठते है और बाद में उन्हें पछताना पड़ता है ।लेकिन आज हम आपको एक ऐसे लोन के बारे में बताने वाले है जिसके बारे में जानने के बाद आप आसानी से अपनी गाड़ी खरीद सकते है ।  

loan

बता दें कि. अगर आप अपने बजट से ज्यादा का लोन ले रहे हैं तो आपको पहले अपनी रीपेमेंट कैपेसिटी जरूर चेक कर लेनी चाहिए.इसके साथ ही आपको ये भी ध्यान रखना होगा कि बड़े अमाउंट में आपको लंबे समय तक EMI देनी पड़ सकती है. ऐसे में आपकी फाइनेंशियल हेल्थ पर भी इसका असर देखने के लिए मिल सकता है. इसलिए लोन अमाउंट रीपेमेंट की क्षमता के अनुसार ही तय करें. इसके बाद कोई आगे का कदम उठाएं. ऐसे में आपके लिए पैसों का इंतजाम करने के लिए ऑटो लोन लेना सबसे बेहतर तरीका हो सकता है. कई बार ग्राहक लोन लेने से पहले अपने क्रेडिट स्कोर की जांच भी नहीं करते है. अच्छा क्रेडिट स्कोर आपको कम दरों पर लोन लेने में मदद करता है. साथ ही कम क्रेडिट स्कोर होने पर आपको समय से रीपेमेंट करना बेहद जरूरी हो जाता है      

बता दें कि ज्यादातर लोग ये सोचते हैं कि बड़ा अमाउंट होने पर लंबी समय की अवधि के लिए लोन ले लिया जाए और फिर कम अमाउंट की EMI में इसे चुकाया जाए. लेकिन ये ठीक नहीं होता क्योंकि ऐसे में आपकी EMI पर लगने वाला ब्याज भी ज्यादा हो जाता है, जो आपको लंबे समय तक चुकाने पर कई गुना देना होता है. इसलिए लोन टर्म का सिलेक्शन का ध्यान रखना बहुत जरूरी होता है.

सबसे पहले चेक करें ब्याज दरें        

car

कई बार ग्राहक लोन लेते समय ब्याज दरों की तुलना नहीं करते हैं. यानी कि कई बैंकों में आपको कम इंटरेस्ट पर लोन मिल रहा होता है. लेकिन ठीक तरह से रीसर्च न करने पर आप महंगा ब्याज ले लेते हैं. जिससे लोगों को कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है. वहीं दूसरी ओर कई बार ग्राहक बिना डाउन पेमेंट के भी लोन लेते हैं. लेकिन ऐसा करने पर न सिर्फ आपको लंबे समय के लिए लोन चुकाना होता है बल्कि चुकाने वाली EMI पर ब्याज भी कई गुना ज्यादा देना होता है. बल्कि कुछ हिडन चार्ज भी आपको देने पड़ सकते हैं. इसलिए आप हमेशा कोशिश करें कि डाउन पेमेंट कर ही आप लोन लें. जिससे आपको आगे चलकर किसी भी परेशानी का सामना न करना पडे