Breaking News
Home / बॉलीवुड / गोविंदा के पैदा होते ही पिता ने गोद में लेने से किया था इनकार, और मुस्लिम माँ धर्म छोड़ कर बन गयी थी साध्वी

गोविंदा के पैदा होते ही पिता ने गोद में लेने से किया था इनकार, और मुस्लिम माँ धर्म छोड़ कर बन गयी थी साध्वी

दोस्तो बॉलीवुड में बिना किसी गॉड फादर के अपनी पहचान बनाना बहुत ही मुश्किल है ।लेकिन बॉलीवुड के फेमस अभिनेता बेहतरीन कॉमेडीयन,नृत्य कला में माहिर और कमाल के एक्सप्रेशन की खान गोविंदा ने यह कर दिखाया है । गोविंदा ने बिना किसी गॉड फादर के इंडस्ट्री में न अपनी पहचान बनाई बल्कि अपने अभिनय से दर्शकों के दिलो पर राज भी किया है । गोविंदा के एक ही सांस में लम्बे लम्बे डायलॉग बोलने के अंदाज के लोग फैन है ।आपको बता दे गोविंदा का नही बल्कि उनके माता पिता का इंडस्ट्री से नाता रहा है ।इसी के चलते आज हम आपको गोविंदा की जिंदगी से जुड़े ऐसे ही एक किस्से के बारे में बताने वाले है जानने के लिए लेख को अंत तक जरूर पढ़े।

21 दिसंबर 1963 में गोविंदा का जन्म मुंबई में ही हुआ था.उनके पिता का नाम अरुण आहूजा था.जो कि पंजाब के गुजरांवाला के रहने वाले थे.उनके पिता भी फिल्म निर्माता थे.कहा जाता है कि गोविंदा के पिता महबूब खान के कहने पर ही पहली बार मुंबई आए थे.मुंबई आने के बाद उन्हें पहली बार एक्टिंग करने का मौका मिला.

गोविंदा की मां नज़ीम मुस्लिम घराने से ताल्लुक रखती थीं.गोविंदा की मां ने अरुण आहूजा संग विवाह करने के बाद धर्म परिवर्तन कर लिया था.जिसके बाद उन्होंने अपना नाम निर्मला देवी रख लिया ता.वह भी एक अदाकारा थीं.बताया जाता है कि गोविंदा के पिता ने अपनी लाइफ में एक ही फिल्म बनाई थी.फिल्म फ्लॉप हो जाने के कारण उन्हें काफी नुकसान हुआ था.जिसकी वजह से उनकी आर्थिक स्थिति भी काफी खराब हो चुकी है। तंगी से गुज़र रह अरूण बीमार भी रहने लगे थे.

आर्थिक तंगी से गुज़र रहे गोविंदा के पिता को आलीशन घर छोड़कर जाना पड़ा.उनका परिवार भी बहुत बड़ा था.उनके छह बच्चे थे.जिसमें से सबसे छोटे गोविंदा ही थे.खबरों की मानें तो बताया जाता है कि गोविंदा की अंग्रेजी ठीक ना होने के कारण उन्हें कहीं भी नौकरी नहीं मिलती थी.जिसकी वजह से उन्होंने बचपन से ही काफी संघर्ष भरी जिंदगी जी है. बेशक आज गोविंदा को उनकी पत्नी सुनीता का ही नाम जपते हुए देखा जाता है,लेकिन एक दौर ऐसा था.जब गोविंदा का एक्ट्रेस नीलम कोठारी और रानी मुखर्जी संग भी जुड़ा था.बताया जाता है कि गोविंदा एक्ट्रेस नीलम के प्यार में पूरी तरह से दीवाने हो गए थे.वहीं फिल्म की शूटिंग के दौरान वह अभिनेत्री रानी मुखर्जी को भी अपना दिल दे बैठे.लेकिन गोविंदा कभी-कभी अपनी शादीशुदा जिंदगी को खराब नहीं करना चाहते थे। यही वजह थी कि उन्होंने नीलम और रानी से अलग होने का फैसला लिया था

 

गोविंदा के बारे में कम ही लोग जानते होंगे कि जब वे पैदा हुए तो उनके पिता अरुण आहूजा ने उन्हें गोद तक लेने से इनकार कर दिया था। यह बात खुद गोविंदा ने एक इंटरव्यू के दौरान कही थी। आखिर क्या थी इसकी वजह? आइए जानते हैं.

गोविंदा ने इस इंटरव्यू में बताया था, “जब मैं गर्भ में था तो मां (निर्मला देवी) साध्वी बन गई थी। वह पापा के साथ ही रहती थी, लेकिन बिल्कुल साधवी की तरह। कुछ महीनों बाद मेरा जन्म हुआ तो पापा ने मुझे गोद लेने से इनकार कर दिया। दरअसल, उन्हें ऐसा लग रहा था कि मेरे कारण मां उनसे गोविंदा के पैदा होते ही पिता ने गोद में लेने से किया था इनकार, और मुस्लिम माँ धर्म छोड़ कर बन गयी थी साध्वी अलग होकर साधवी बनी है। कुछ समय बाद जब लोगों ने उन्हें मेरे बारे में कहा कि कितना खूबसूरत बच्चा है, कितना अच्छा लड़का है, तब उन्होंने मुझे प्यार करना शुरू किया।”

About Megha