Breaking News
Home / ताजा खबरें / 3 सेंटीमीटर के जीव ने महान वैज्ञानिको को दी बड़ी टेंशन,तबाह कर सकता है पूरी दुनिया

3 सेंटीमीटर के जीव ने महान वैज्ञानिको को दी बड़ी टेंशन,तबाह कर सकता है पूरी दुनिया

दोस्तो इस धरती पर न जाने कितने जीव जंतु है कुछ ऐसे है जिनके होने से कोई फर्क नही पड़ता लेकिन कुछ ऐसे जीव जंतु भी है जो जानलेवा साबित हो सकते है ।ऐसे ही एक जीव को लेकर खबर सामने आ रही है जो बहुत ही खतरनाक बताया जा रहा है दिखने में ये जीव बहुत ही छोटा है लेकिन ये पूरी दुनिया को तबाह कर सकता है अब ऐसे जीव से कोई खुद को कब तक बचा पाएगा ।आखिर ये जीव कहां से आया और क्यों इसने दुनिया वैज्ञानिकों को चिंता में डाल दिया है ।क्या है ये पूरा मामला जानने के लिए खबर को अंत तक जरूर पढ़े.

‘ये दुनिया को कर देगा तबाह’, आखिर क्यों 3 सेंटीमीटर के जीव को लेकर टेंशन में हैं दुनिया के वैज्ञानिक

तेजी से फैल रहे मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक कीड़ों की दो नई प्रजातियों का पता चला है, जो अभी जंगलों और बगीचों में पाए जा रहे हैं। अगर इसका जल्द समाधान नहीं निकाला गया तो ये इंसानों के घरों और किचन में पहुंच सकते हैं। वैज्ञानिकों के मुताबिक फ्लैटवर्म की लंबाई तो सिर्फ 3 सेंटीमीटर होती है, लेकिन ये करीब 3 फीट तक बढ़ सकते हैं। इसके प्रजनन की भी रफ्तार काफी तेज है। जब वैज्ञानिकों को इन कीड़ों के बारे में पता चला तो उसके कुछ दिनों के अंदर वो दुनिया के तीन अन्य देशों में पहुंच गए थे।

पौधों के जरिए जा रहे दूसरे देश  रिपोर्ट के मुताबिक फ्लैटवर्म ब्रिटेन के बगीजों में मिले हैं, लेकिन फ्रांस, इटली और अफ्रीका में भी इसे देखा गया है। सबसे चिंताजनक बात ये है कि दुनिया में बड़े पैमाने पर पौधों का निर्यात होता है। ऐसे में ये आसानी से कई देशों में फैल सकते हैं। अभी तक इसकी 10 प्रजातियां एशिया से दुनियाभर में फैली हैं। इसका जरिए सिर्फ पौधों का आयात-निर्यात है।

आक्रामक हैं ये प्रजातियां वैज्ञानिकों के अनुसार इस जीव से ब्रिटिश बागानों की प्राकृतिक जैव विविधता को खतरा हो सकता है। साथ ही ये ग्रामीण इलाकों में फसल की पैदावार को भी नुकसान पहुंच सकता है। इसके अलावा पेरिस के राष्ट्रीय इतिहास संग्रहालय के विशेषज्ञों ने लॉकडाउन के दौरान ताजा आंकड़ों को देखकर नई किस्मों को लेकर आगाह किया है। मामले में प्रोफेसर जीन लू जस्टिन ने कहा कि इन प्रजातियों में आक्रामक बनने और पूरी दुनिया में फैलने की क्षमता है।


गर्मी की वजह से आए सामने वहीं नमूने एकत्र करने वाले एनरिको रूजियर के मुताबिक जलवायु परिवर्तन की वजह से गर्मी बढ़ती जा रही है। जैसे-जैसे धरती गर्म हो रही, वैसे-वैसे हजारों फ्लैटवर्म बाहर आ रहे हैं। ऐसे में आने वाले दिनों में ये समस्या ज्यादा बढ़ सकती है। फिलहाल वैज्ञानिक इस समस्या का समाधान खोजने की कोशिश कर रहे हैं।

 

About Megha