Breaking News
Home / बॉलीवुड / 3000 करोड़ की संपत्ति के मालिक है अमिताभ बच्चन, लेकिन उनके छोटे भाई को कंगाली में गुजारनी पड़ रही है ज़िन्दगी

3000 करोड़ की संपत्ति के मालिक है अमिताभ बच्चन, लेकिन उनके छोटे भाई को कंगाली में गुजारनी पड़ रही है ज़िन्दगी

दोस्तो बॉलीवुड में शहंशा के नाम से जाने जाने वाले फेमस अभिनेता अमिताभ बच्चन और स्टार्स के लिए एक प्रेरणा और मिसाल है ।इतनी उम्र होने के बाद आज भी अमिताभ ने अपना अभिनय जारी रखा है ।आज अमिताभ उस मुकाम पर पहुंच गए है जहां उन्होंने नाम, दौलत ,शौहरत,प्यार और सम्मान हासिल कर लिया है ।वे किसी पहचान के मोहताज नहीं है ।इनके परिवार की बात करे तो इंडस्ट्री के सबसे सफल परिवारों की लिस्ट में इनके परिवार का नाम शुमार है ।अमिताभ के परिवार के लगभग सभी सदस्यों के बॉलीवुड से नाता रहा है ।

बच्चन परिवार के हर एक सदस्य सफलता हासिल कर चुके हैं. अमिताभ बच्चन की पत्नी जया बच्चन भी बॉलीवुड फिल्म इंडस्ट्री की सुपरहिट अभिनेत्री रहीं हैं. वही बात करें अमिताभ बच्चन के बेटे अभिषेक बच्चन की तो अभिषेक बच्चन भी बॉलीवुड के जाने माने अभिनेता है. अमिताभ बच्चन की बहू ऐश्वर्या राय बच्चन भी बॉलीवुड की सुपरहिट अभिनेत्री हैं और ऐश्वर्या राय बच्चन ने बॉलीवुड में कई सुपरहिट फिल्मों में अपने एक्टिंग का जलवा बिखेरा है.

अमिताभ बच्चन आज 3000 करोड़ की संपत्ति के मालिक हैं और उनके यहां काम करने वाले नौकर भी काफी ज्यादा पैसा कमाते हैं और ऐश से अपनी जिंदगी बिताते हैं. लेकिन क्या आपको पता है अमिताभ बच्चन के भाई आर्थिक तंगी से गुजर रहे हैं और काफी बुरे वक्त का सामना कर रहे हैं. जी हां हम बात कर रहे हैं अमिताभ बच्चन के चचेरे भाई अनूप रामचंद्र की. अनूप रामचंद्र अमिताभ बच्चन के चचेरे भाई हैं बावजूद इसके यह गरीबी में अपना जीवन व्यतीत कर रहे हैं.

दरअसल, अमिताभ बच्चन और इनके चचेरे भाई में एक बार जमीन को लेकर विवाद हो गया था. जी हां अनूप रामचंद्र जिस पुश्तैनी घर में रहते हैं उस घर को लेकर अमिताभ बच्चन से एक बार इनका विवाद हो गया था जिसके बाद से अमिताभ बच्चन ने इनसे अपना रिश्ता तोड़ लिया और इन्होंने भी अमिताभ बच्चन से अपना रिश्ता तोड़ लिया और तो और यह अभिषेक बच्चन की शादी में भी शामिल होने नहीं पहुंचे थे. पुश्तैनी घर के वजह से बच्चन परिवार अनूप रामचंद्र से नाराज है और यही कारण है कि बच्चन परिवार इनकी कोई मदद नहीं करता है.

About Megha