Breaking News
Home / ताज़ा खबरे / दूल्हे ने पेश की नयी मिसाल, रीढ़ की हड्डी टूटने के बाद भी नहीं छोड़ा साथ, “विवाह” फिल्म की तरह रचाई दुल्हन से शादी

दूल्हे ने पेश की नयी मिसाल, रीढ़ की हड्डी टूटने के बाद भी नहीं छोड़ा साथ, “विवाह” फिल्म की तरह रचाई दुल्हन से शादी

मित्रों इस बात से तो आप सभी अवगत ही है कि हमारे जीवन को सही ढंग से चलाने के लिये, एक जीवनसाथी की आवश्यकता होती है, जो कि शादी करने के पश्‍चात पूरी हो जाती है, शादी एक ऐसा बन्‍धन है, जो लगभग सभी लोगों की अवश्‍यकता है, यह रिश्‍ता मूलत: विश्‍वास के आधार पर ही चलता है, यह रिश्‍ता दो दिलों के साथ साथ दो पारिवारों को भी एक कर देता है। इसी क्रम में आज हम एक ऐसी शादी के संबंध में बताने जा रहे है, जिस शादी ने शाहिद कपूर की फिल्म ‘विवाह’ की याद दिला दी। क्योंकि इस फिल्म में ऐक्ट्रेस अमृता राव की शादी के दिन घर में आग लगने से अपनी छोटी बहन को बचाने में स्वयं आग से जल जाती है। इसके बाद अस्पताल में ही ऐक्टर शाहिद कपूर उनसे विवाह करते है। कुछ ऐसी ही घटना आज सुनने में आ रही है।

आपको बता दें कि प्रतापगढ़ के कुंडा इलाके में रहने वाली आरती की शादी अवधेश नाम के लड़के से 8 दिसम्बर को होने वाली थी। लेकिन जिस दिन उसकी बारात आने वाली थी, उसी दिन छत पर खेल रहे अपने 3 साल के भतीजे के बचाने के क्रम में वो छत से नीचे गिर जाती है और उसकी रीढ़ की हड्डी टूट जाती हैं और दोनो पैरों की ताकत चली जाती है।उस हादसे के बाद आरती के घरवाले उसे प्रयागराज के प्राइवेट हॉस्पिटल में भर्ती करवाते हैं। इसके बाद दूल्हे के घरवाले को खबर दी जाती है। इस मामले की सच्चाई जानने के लिए दूल्हे के घरवाले दो लोगो को पता लगाने के लिए भेजते हैं। आरती के घर वाले अवधेश की बात को सुनने के बाद डॉक्टर से बातचीत करके एक दिन के लिए आरती को एंबुलेंस से वापस अपने घर कुंडा ले जाकर दोनों के साथ फेरे और बाकी की रस्मों की पूरी किये।इसके बाद आरती के घरवाले उसको हॉस्पिटल में भर्ती कराते हैं।

आपकी जानकारी के लिये बता दें कि अवधेश अपने पत्नी आरती का बहुत ख्याल रखते हैं हमेशा उनकी देख रेख में लगे रहते हैं। अस्पताल में हाथों में मेहंदी लगाए बेड पर पड़ी नई नवेली दुल्हन और दूल्हे को देख कर के उनके रिश्तेदार और घरवाले इन दोनों के हौसले और हिम्मत को सलाम करते हैं।इस घटना के बाद अवधेश लोगों के नजर में रियल लाइफ के हीरो बन जाते हैं। उनके इस फैसले पर हर कोई भी तारीफ कर रहा होता है, क्योंकि तकलीफ में तो परछाई भी साथ छोड़ देती है परंतु अवधेश ने जिस तरह हिम्मत दिखाई वह वाकई तारीफ के काबिल है। इस जानकारी के संबंध में आप लोगों की क्या प्रतिक्रियायें है। मित्रो अधिक रोचक बाते व लेटेस्‍ट न्‍यूज के लिये आप हमारे पेज से जुड़े और अपने दोस्तो को भी इस पेज से जुड़ने के लिये भी प्रेरित करें।

Check Also

मम्मी पापा हम आपकी लड़ाई से तंग होकर जा रहे है,रुला देने वाला खत लिखकर भाई बहन ने छोड़ा घर

मित्रों इस बात में तो कोई दो राय नही है कि आज के समय में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *