Breaking News
Home / जरा हटके / इतनी होती है IAS अफसर की सैलरी,साथ ही मिलता है ये फायदा

इतनी होती है IAS अफसर की सैलरी,साथ ही मिलता है ये फायदा

हर इन्सान बचपन से सपना देखता है वो बड़ा होकर डॉक्टर ,इंजीनियर बनेगा .ऐसे ही कुछ लोगो का सपना IAS बनने का होता है .जिसके लिए उन्हें दिन रात कड़ी मेहनत करने पड़ती है . क्योंकि उन्हें इसके लिए कठिन परीक्षा से गुजरना पड़ता है .और इस परीक्षा में अच्छा रैंक प्राप्त करके पास हो जाये तब तो बात ही बन जाये.

एक IAS अफसर का चयन UPSC सिविल सेवा परीक्षा पास करने के बाद फाइनल कट ऑफ के आधार पर किया जाता है। UPSC सिविल सेवा परीक्षा पास करने के बाद सभी चयनित उम्मीदवारों को मसूरी स्थित लाल बहादुर शास्त्री ट्रेनिंग अकेडमी में ट्रेनिंग के लिए बुलाया जाता है  जहां से उनका IAS बनने का सफर शुरू होता है। आपको बता दें की इस प्रशिक्षण समय के पहले महीने में IAS अफसरों को कोई भी वेतन नहीं मिलता है। एक IAS अधिकारी का वेतन उसके पद और पदोन्नति (प्रमोशन) के आधार पर बढ़ता है। आइये जानते हैं एक IAS अधिकारी के प्रशिक्षण से ले कर उच्चतम पद तक के वेतन प्रणाली के बारे में:

7th Pay कमीशन के बाद बदल गया है IAS की सैलरी का बेसिक वेतन 

7th Pay कमीशन के अनुसार अब हर एक IAS अफसर को उसके बेसिक वेतन और TA, DA, HRA के अनुसार ही प्राप्त होगी। हर एक प्रमोशन के बाद IAS की सैलरी विस्तारित होती है।

वेतन स्तरबेसिक वेतन सेवा में आवश्यक वर्षों की संख्यापद 
1056,100/-1-4 वर्ष SDM/ अवर सचिव / सहायक सचिव
1167,700/-5-8 वर्ष अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट (ADM)/ उप सचिव/ अवर सचिव
1278,800/-9-12 वर्ष जिला मजिस्ट्रेट/संयुक्त सचिव / उप सचिव
131,18,500/-13-16 वर्ष जिला मजिस्ट्रेट/ विशेष सचिव/ निदेशक
141,44,200/-16-24 वर्ष डिविज़नल कमिश्नर/ सचिव-सह-आयुक्त/ संयुक्त सचिव
151,82,200/-25-30 वर्ष प्रमुख सचिव/ अपर सचिव
162,05,400/-30-33 वर्ष अपर मुख्य सचिव
172,25,000/-35-36 वर्ष प्रमुख शासन सचिव/ सचिव 
182,50,000/-37+ वर्ष भारत के कैबिनेट सचिव

IAS अधिकारियों की जॉइनिंग के समय महंगाई भत्ता (DA) 0% निर्धारित है जो की समय के साथ बढ़ाया जाता है। सभी IAS अधिकारियों का वेतन एक ही स्तर पर शुरू होता है और फिर उनके कार्यकाल और पदोन्नति के साथ बढ़ता है। प्रवेश स्तर पर मूल वेतन प्रत्येक वर्ष प्रारंभिक स्तर पर 3% बढ़ जाता है। कैबिनेट सचिव स्तर पर, यह तय है। प्रवेश स्तर पर हर साल महंगाई भत्ता 0-14% बढ़ जाता है। उच्चतम स्तर पर, डीए बढ़ सकता है।

सिविल सेवा देश की सेवा करने और देश के लोगों के जीवन पर सकारात्मक प्रभाव डालने का एक अवसर है। अब जब आप प्रति माह IAS अधिकारी के वेतन के बारे में विवरण जानते हैं, तो यह आपकी UPSC 2020 परीक्षा की तैयारी शुरू करने के लिए प्रोत्साहन का काम करेगा। लेकिन, भारत में IAS अधिकारी के वेतन को सिविल सेवा में करियर बनाने का एकमात्र मानदंड नहीं  चाहिए बल्कि आपकी मुख्य प्रेरणा देश के लिए काम करने और लोगों के जीवन को बेहतर बनाने की इच्छा होनी चाहिए।

Check Also

चूहों के आ’तंक से बचने के अचूक उपाय,1 दिन में भाग जायेंगे सारे चूहे

वैसे तो चूहे उन स्थानों पर ज्यादा होते  है जन्हा अनाज या खाने पीने का …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *