Breaking News
Home / राजनीती / मोदी ने रच दिया इतिहास, जानकर हर देशवासी को होगा गर्व

मोदी ने रच दिया इतिहास, जानकर हर देशवासी को होगा गर्व

जबसे प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी सत्ता में आये है तभी से लेकर अब तक उन्होंने अपने कार्यकाल में ऐसे ऐसे बड़े फैंसले लिए है जो इतिहास के सुनहरे पन्नो में लिखे जायेंगे ! उन्होंने ऐसे ऐसे काम किये है जो आज से पहले कभी नही हुए ! नरेंदर मोदी का मकसद केवल अपने देश का हर क्षेत्र में विकास करना है और हर देशवासी को खुशहाल बनाना ! एक बार फिर नरेंदर मोदी ने अपने एक फैंसले से इतिहास रच डाला , चलिए जानते है पूरी खबर !

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अंतरराष्टीय मंच पर एक और इतिहास रचने जा रहे हैं. देश की आजा’दी के बाद पहली बार कोई भारतीय प्रधानमंत्री सं’युक्त रा’ष्ट्र सुरक्षा परिषद की बैठक की अध्यक्ष’ता करने वाले हैं. संयुक्त रा’ष्ट्र में भारत के पूर्व स्थायी प्रतिनिध सैयद अक’बरुद्दीन ने रविवार को ये जानकारी दी. बता दें कि एक अगस्त से भारत को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की कमान संभाला रहा है. इस दौरान भारत तीन प्रमुख क्षेत्रों समुद्री सुरक्षा, शांतिरक्षण और आतं’कवाद को रोकने संबंधी विशेष कार्यक्रमों की मेजबानी करने के लिए तैयार है.

संयुक्त राष्ट्र में भारत के पूर्व स्थायी प्रतिनिधि सैयद अकबरुद्दी के मु’ताबिक 9 अगस्त को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की बैठक की अध्य’क्षता पीएम मोदी कर सकते हैं. बता दें कि 75 साल में ये पहला मौ’का है जब कोई भारतीय प्रधानमंत्री संयुक्त राष्ट्र के 15 सदस्यीय निकाय के एक कार्यक्रम की अध्यक्षता करेंगे. सैयद अकबरुद्दी ने ट्वीट करते हुए लिखा है, ‘हमारे प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी पहले भारतीय प्रधान मंत्री होंगे, जिन्होंने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की बैठक की अध्यक्षता करने का फैसला किया है. इससे ये साबित होता है कि हमारे ली’डर अब फ्रंट से लीड करना चाहते हैं.’

सैयद अकबरुद्दीन का ट्वीट
कई उच्च स्तरीय बैठकों की अध्यक्ष’ता प्रधानमंत्री, विदेश मंत्री एस जयशंकर और विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला सहित भारत के शीर्ष अधिकारी करेंगे. सैयद अकबरुद्दी ने कहा, ‘ ये यूएनएससी पर हमारा आठवां कार्यकाल है, फिर भी 75 वर्षों में ये पहली बार है जब हमारे राजनीतिक नेतृत्व ने सु’रक्षा परिषद के किसी कार्यक्रम की अध्यक्षता करने में दिलचस्पी दिखाई है.’

सु’रक्षा परिषद के अस्था’यी सदस्य के तौ’र पर भारत का दो साल का कार्यकाल एक जनवरी, 2021 को शुरू हुआ था. अगस्त की अध्यक्षता सुरक्षा परिषद के गैर स्थायी सदस्य के तौ’र पर 2021-22 कार्यकाल के लिए भारत की पहली अध्यक्ष’ता होगी. भारत अपने दो साल के कार्यकाल के आखि’री महीने या’नी अगले साल दिसंबर में फिर से परिषद की अध्यक्ष’ता करेगा. अपनी अध्यक्षता के दौरा’न, भारत तीन बड़े क्षेत्रों – समुद्री सुरक्षा, शांतिरक्षण और आतंक’वाद रोक’थाम के संबं’ध में तीन उ’च्च स्तरीय प्रमुख कार्यक्रमों का आयोजन करेगा.

Check Also

इस बार मुहर्रम पर नहीं निकलेगा ताजिया और जुलूस

हमारे देश में कई ऐसे त्योहार है जो हर साल बड़े धूम धाम से मनाये …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *