Breaking News
Home / राजनीती / अब “राकेश टिकैत” के खिलाफ एकजुट हुए किसान और कहा जितनी जल्दी हो इसे गिरफ्तार करो वरना…

अब “राकेश टिकैत” के खिलाफ एकजुट हुए किसान और कहा जितनी जल्दी हो इसे गिरफ्तार करो वरना…

पीछे कई महीनो से किसानो ने दिल्ली में धरना दिया हुए है जिनके नेतृत्व में किसानो के नेता राकेश टिकैत किसानो की मांगो को लेकर अड़े हुए है ! टिकैत के समर्थन में पंजाब और हरियाणा के कई किसान एकजुट है ! किसानो की मांग है कि सरकार के द्वारा निकाले गए 3 कृषि बिल उन्हें वापिस ले लिया जाए १ किसानो का कहना है कि जब तक उनकी ये मांग पूरी नही हो जाती तब तक वो सब अपने परिवारो के साथ यही धरने पर बैठे रहेंगे ! अपनी इसी मांग को लेकर कुछ किसान दिल्ली के भीतर घुस कर जंतर मंतर के पास किसान संसद का आयोजन कर रहे हैं क्यूंकि उनका कहना है कि दिल्ली की सिमायो पर सरकार हमें नज़र अंदाज़ कर रही है लेकिन भीतर आकर हमारी बात जरुर सुनेगी !

किसानों में शुरू हुई समूह बाजी


इसके बाद से ही कांग्रेस पार्टी (Congress Party) सहित कई राजनीतिक दल किसानों को लेकर राजनीति करना शुरू करें दिए हैं। भारतीय किसान यूनियन (BKU) धीरे धीरे कई समूहों में बंटता जा रहा है। भारतीय किसान यूनियन (मान) समूह ने भारतीय किसान यूनियन (चढूनी) के अध्यक्ष गुरनाम सिंह चढूनी और किसान नेता राकेश टिकैत के ऊपर मामला दर्ज कर इनके धरने को लेकर हरियाणा सरकार की ओर से अल्टीमेटम दिया गया है।

रोड पर ईंटों की दीवार बना कर टिकैत पर मामला दर्ज करने की मांग

इसके बाद ही मान समूह ने सोमवार को मथाना के कुरुक्षेत्र सहारनपुर रोड (Kurushetra Saharanpur Road) पर ईंटों की दीवार बनाकर लगभग एक घंटा तक अपने समर्थकों के साथ वही खड़े रहे। प्रशासन ने आने जाने वाली गाड़ियों के लिए रूट डायवर्ट कर दिया है। अब मनोहर लाल खट्टर सरकार ने मान समूह से लेकर टिकैत और चढूनी तक को धरे जाने के लिए 15 दिन की मोहलत मांगी है। अब वह दिन दूर नहीं जब ये सभी किसानों की आड़ में राजनीति करने वाले नेता हवालात की हवा खा रहे होंगे।

15 दिन में धरे जाएंगे राकेश टिकैत

रोड जाम करने की सूचना मिलने के बाद लाडवा के SDM अनुभव मेहता, DSP लाडवा भरत भूषण, नायब तहसीलदार जयवीर रंगा मौके पर पहुंचे और जाम खुलवाने की कवायद शुरू की। मान समूह के समर्थकों ने रोड पर से हटने से मना कर दिया और वे मांग करने लगे की गुरनाम सिंह चढूनी और राकेश टिकैत के ऊपर मामला दर्ज किया जाए और उससे धरा जाए। इसके बाद मौके पर पहुंचे अधिकारियों ने 15 दिन का मोहलत मांगने के बाद उन्हें वहां से अलग कर दिया

Check Also

इस बार मुहर्रम पर नहीं निकलेगा ताजिया और जुलूस

हमारे देश में कई ऐसे त्योहार है जो हर साल बड़े धूम धाम से मनाये …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *